Subscribe Us

बढ़ते क्राइम को रोक पाने में नाकाम साबित हो रही पलिया पुलिस

बाइक चोरों की गिरफ्तारी न होने से पत्रकार व नगरवासियों खासा रोष

ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी

पलिय कलां खीरी। पुलिस की सुस्त कार्यप्रणाली के चलते बढ़ता जा रहा क्राइम का ग्राफ।सूत्रों के मुताविक क्षेत्र को अपराधियों ने पूरी तरह से जकड़ रखा है।और सुरक्षा एजेंसियां सिर्फ चंद चाटूकारिता करने वाले दलालों के मोह में आकर उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को बदनाम करने में लगे हुए हैं। जो कि देशवासियों के लिए चिंता का विषय है।

पिछले कुछ समय से ऐसा ही देखने को मिल रहा है।बीते कुछ माह में लगातार हुई हत्याओं लूट डकैती चोरी छिनारा राहजनी तस्करी जैसी पुलिस के पास पहुची तमाम शिकायतों का खुलासा पुलिस आज तक नही कर पाई है धीरे धीरे जनता का विश्वास स्थानीय पुलिस से उठता जा रहा है। पुलिस की सुस्त कार्यप्रणाली से क्षेत्र वासी अपने आप को असुरक्षित जैसा महसूस कर रहे हैं। बताते चले कि अपराधी इतने बेखौफ हो गए हैं कि आम जनता के साथ साथ पुलिस व पत्रकारो का भी भय नही रह गया है। ऐसा ही एक मामला सोमवार 15 फ़रवरी को प्रेसिडेंट पार्क में देखने को मिला जहाँ राज्यमंत्री महेश चंद्र गुप्ता के कार्यक्रम में पहुचे प्रिंट मीडिया के पत्रकार राहुल गुप्ता की भारी पुलिस अमले के बीच से चोरों ने बाइक चुरा ली। जिसकी सीसीटीवी फुटेज में शिनाख्त पर पटीहन रोड़ स्थित ऐंठपुर के एक फार्म हाउस से एक आटोलिफ्टर के साथ बाईक बरामद कर ली जिनमे से एक आरोपी कुणाल को पुलिस ने जेल भेज कर इतिश्री कर ली। जबकि पुलिस की गिरफ्त से दूर दो मुख्य आरोपी में से एक आरोपी सोम गुप्ता के फार्म हाउस से बाइक बरामद हुई थी और समय रहते बाइक की बिक्री के प्रयास में था। मगर छह दिन बीतने के बाद भी पुलिस उन दो अपराधियों को पकड़ने में नाकाम साबित हो रही है। इधर पीड़ित पत्रकार को मिले आधे अधूरे न्याय के चलते पीड़ित पत्रकार समेत नगरवासियों में पुलिस के खिलाफ खासा रोष देखा जा सकता है। वही पीड़ित पत्रकार का कहना है कि अगर एक हफ्ते के अंदर दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी नही होती है तो वह शासन प्रशासन के बड़े अधिकारियों का दरवाजा खटखटाने को विवश होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ