Subscribe Us

सैकड़ों यात्रियों से भरी बस खाई में पलटी, कुछ यात्रियों की हालत गंभीर

ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी

पलियाकलां खीरी। एक बार फिर से पूर्व में हुई घटना दोहरा जाती बताया जाता है कि सारदा पुल के पास हुई बड़ी घटना के बाद से यह दूसरी घटना है जिसमें ड्राइवर की लापरवाही साफ देखी जा रही है। बता दें कि प्राइवेट गाड़ियों का इस तरह से टाइम टेबल बनाया गया है जो रोड़ पर छोटे वाहन व पैदल चलने वालों के लिए कॉल बनते जा रहे हैं जैसे ही प्राइवेट बस वाहनों का टाइम लाने ले जाने का खत्म होता है और अपनी गाड़ी का नम्बर लगाने की ऐसी होड़ मची रहती है कि आम ज़िंदगियां इन्हीं वाहनों का शिकार हो जाते हैं। वैसे भी दिन पर दिन बसों की रफ्तार तेज होने से लोगों के मौत का कारण बनते खासा देखा जा सकते है। इसी का अंदाजा इस बात से लगाया जाता है कि सुबह प्राइवेट बस यूनियन की बस पलिया से 6:30 बजे रवाना हुई जिसमें करीब सैकड़ों की संख्या में नेपाली सवारियां भरी हुई थी और गौरीफंटा जा रहा था तभी दुधवा से पहले ही ट्रक को साइड देने के चक्कर में अनियंत्रित होकर सवारियों से भरी बस खाई में जा गिरी। बस में सवार यात्रियों की जान जाते-जाते बची। बस में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं, हालांकि कुछ लोगों के घायल होने की खबर है। गंभीर रूप से घायल लोगों को इलाज के लिए फौरन पलिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे के बाद मौके पर पहुंचे गौरीफंटा कोतवाल रमेश चंद्र यादव ने घटनास्थल का जायजा लिया। जानकारी के मुताबिक सवारियों से भरी निजी बस पलिया से गौरीफंटा जा रही थी। इसी दौरान बस बेकाबू होकर खाई में जा गिरी। जिस खाई में बस गिरी थी, उसकी गहराई लगभग 20 से 25 फीट बताई जा रही है। हादसा गौरीफंटा कोतवाली क्षेत्र में हुआ जहां ‌प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बस के ड्राइवर ने बस पर से नियंत्रण खो दिया था, जिस वजह से बेकाबू बस गहरी खाई में जा गिरी। हादसे के वक्त बस में सैकड़ों लोग सवार थे। बस के खाई में गिरते ही मौके पर चीख-पुकार मच गई। यात्री रोने-चिल्लाने लगे

यात्रियों की चीख-पुकार सुन कर आने जाने वालों ने अपनी-अपनी गाड़ियों को रोक कर बिना समय गंवाए बचाव कार्य शुरू कर दिया।  लोगों ने एक-एक करके सभी यात्रियों को बस से सुरक्षित बाहर निकाला। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने भी यात्रियों को बचाने में मदद की। हादसे में सभी यात्रियों की जान बच गई है, पर कुछ यात्री गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ