Subscribe Us

बड़े ही धूमधाम से मनाई गई हज़रत अली की यौमे पैदाइश

ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। हज़रत अली इब्ने अबी तालिब ( अ का यौमे पैदाइश धूमधाम से मनाई गई  जगह जगह हुई महफ़िलें नज़रो नियाज़ के साथ केक काट कर बांटी मिठाइयाँ  । जिसने अपने आप को पहचान लिया उसने खुदा को जान लिया ।जिसने अपने आप को पहचान लिया है उसने खुदा को जां लिया अपने अमल को ऐसा बनाएं ताकि देखने वाले कहें कि ये अली का चाहने वाला जा रहा है ।यह बात मौलाना मो0रज़ा ज़ैदपुरी ने अपने बयान में बीती रात मौलाना गुलाम अस्करी हाल में महफ़िल को खिताब करते हुए कहा।ज़ाकिरे अहले बैत अली अब्बास ने  करबला सिविल लाइन में खिताब किया ।मस्जिद इमामियां सट्टी बाज़ार में नमाज़े जुमा के बाद नज़रो नियाज़ के साथ केक काट कर मनाया गया जश्ने अली।सरवर कर्बलाई ने अपना बेहतरीन कलाम पेश करते हुए पढ़ा - ऐसा  लगता  है  रजब  की  आज  तेरह  आ गई । रहमतों   की  हर  तरफ़ दुनियां में बदली छा गई ।

तुझ  पे   सरवर    है   इनायत   हैदरे    कर्रार  की । मन्क़बत  के  शेर जो   फिक्रे रसा  लिखवा   गई ।मौलाना गुलाम अस्करी हाल में  मौलाना मो0 रज़ा ज़ैदपुरी , हाजी सर वर अली कर्बलाई , हबीब हैदर "हब्बू", क़मर इमाम, अहमद रज़ा, मौ0अब्बास मेहदी रिज़वी  "सदफ़",,अज़हर हसनैन रुदौल्वी,शबी अहमद आब्दी,काशिफ,तक़ीउल हसन ज़ैदी,असगर  महदी, मो0रज़ा दानिश,ज़ईम काज़्मी  ,मीसम अब्बास,मो0सादिक़, मो0 ताहा,गाज़ी इमाम,अली शाहा,मोहसिन इमाम, तालिब महदी ज़ैदी,हसन व हसन मसीहा ने नज़रानए अक़ीदत पेश किया । मो0हसन अबरार ने तिलावत से महफिल का आगाज़ किया ।कर्बला सिविल लाइन में हाजी सर वर अली कर्बलाई,आसिफ अख्तर,हैदर आब्दी, आसिम नक़वी , सावेज़ , अमान काजमी ,  अयान काजमी , रज़ा मेहदी , आराब , समद , गाज़ी , एहसान महदी , रज़ान हैदर , रनाया व हुसैन ने  भी नज़रानये अक़ीदत पेश की । वहीं बेलहरा हाऊस कंपाउंड स्थित मरहूम बाक़र साहब के अज़ाखाने में भी हुई महफ़िल  इमाम बाड़ा मीर मासूम अली कटरा  अली कालोनी ,असद नगर, तकिया,अस्करी नगर, बेगम गंज ,लखपेड़ा बाग,रसूल पुर तथा जनपद के केसरवा, मौथरी, ज़ैद पुर , भानमऊ , सराय इस्माईल, मीरा पुर , मोतिक पुर बेलांओ , जर्गान्वा , सन्गौरा , आलम पुर , असन्द्रा ,  मिर्चिया , टिकरिया, बदोसरायें, हज़रत पुर , किन्तूर आदि कस्बों गांवों में  भी हज़रत अली इब्ने अबी तालिब का जन्म दिन धूम धाम से मनाया गया।बड़े मह फिल  मुल्क में अम्नो अमान क़ायम रहने व कोरोना जैसी महामारी से नजात पाने के  साथ साथ  भाई चारा बना रहे की दुआएं की गईं ।सभी ने एक दूसरे के गले मिल कर एक दूसरे को जन्म दिन की बधाई दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ