Subscribe Us

ख़्वाजा गरीब नवाज़ के उर्स के मौके पर मुल्क की तरक्की , खुशहाली के लिए मांगी गयी दुआएं

 


सत्य स्वरूप न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ : अजमेर शरीफ में  विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती  जिन्हें हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज के नाम से जाना जाता है  उनका सालाना उर्स  इस फ़रवरी महीने में शुरू हो गया है। रॉयल फैमिली के नवाबजादा सैयद मासूम रज़ा, एडवोकेट ने कहा कि इस साल 809 वें सालाना उर्स अजमेर में ख्वाजा मोईनुद्दीन की दरगाह पर धूम धाम से मनाया जा रहा है, जिसमे दुनिया भर से लोग ख्वाजा गरीब नवाज़ के दरगाह पर अपनी अपनी हाजत व मुरादें लेकर आते हैं और चादर चढ़ा कर दुआएं मांगते हैं।  उर्स की शुरुआत बुलंद दरवाजे पर झंडा चढ़ने के साथ ही शुरू हो जाती है। सरकार एवम पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए जाते हैं ताकि जायरीन और आने वाले लोगों को किसी तरह कि परेशान ना हों।  भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी अपनी तरफ से 809 वें उर्स के मौके पर चादर पोशी कराई। प्रधान मंत्री की चादर पेश करने के लिए अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नक्वी ने ख्वाजा साहेब के मजार पर चादर पेश की। नवाबजादा  सैय्यद मासूम रज़ा, एडवोकेट  ने कहा कि  ख़्वाजा गरीब नवाज़ के 809 वें उर्स के मौके पर मुल्क की तरक्की और खुशहाली एवम आतंकवाद का जड़ से सफाया हो  इसकी दुआएं मांगी गयी।   उर्स के मौके पर भारतीय डिपार्टमेंट ऑफ़ पोस्ट की जानिब से 27 मई 2012 को 5 और 25 रुपया का दो डाक टिकट एवम फर्स्ट डे कवर जारी हुआ था जो सैयद मासूम रज़ा, एडवोकेट की बिटिया इंजिनियर हया फातिमा के कलैक्शन में मौजूद है जो सल्तनत मंज़िल, निकट सिटी स्टेशन, हामिद रोड, लखनऊ में महफूज है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ