Subscribe Us

नवाबों के शहर में कबूतर उड़ान में मो०शरीफ ने मारी बाज़ी

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। राजधानी नवाबों की नगरी के नाम से मशहूर लखनऊ जहाँ कबूतर बाज़ी, तीतर बाज़ी,बटेर बाज़ी,पतंग बाज़ी जैसे खेलों में माहिर लोग, अपनी अपनी बाज़ियों को जीतने के लिये अपना पसीना ही नही खून तक बहाने में गुरेज नहीं करते, इसी जूनून के तहत मशकगंज निवासी मोहम्मद शरीफ ने कबूतर बाज़ी में रिकार्ड क़ायम कर अपने आपको किंग ही नही अपितु लखनवी परम्परा को भी रौशन कर नवाबीने लखनऊ की यादों को ज़िन्दा रखने का काम किया ।  

मालूम हो  कि मोहम्मद सलमान निवासी मौलवी अनवर बाग ने चैलेंज दिया था, 7 दिन लगातार 151 कबूतर  लड़ा कर दिखाओ, इस चुनौती को मोहम्मद शरीफ ने स्वीकार  किया, और कबूतरों की तैयारी में जुट गए, लगभग 9 दिन के बाद कबूतर लड़ने थे, और यह कबूतर 7 दिन तक लड़ेंगे, जिसको कबूतर बाज़ो की भाषा में साज कहा जाता है। कबूतर लड़ाने का समय दोपहर 2:00 बजे से 3:30 बजे तक लड्ते रहे हैं, 1 दिन में 10 हवा कबूतर लड़ने के बाद सातवें दिन मोहम्मद शरीफ ने सलमान के 22 कबूतर पकड़ लिए, और सलमान के हाथ केवल चार कबूतर लगे, शरीफ के आगे घुटने टेक दिए, शरीफ के कबूतर मशकगंज से उड़ते थे, और सलमान के मौलवी अनवर बाग से उड़ते थे, इन दोनों के कबूतरों पर निशानी के तौर पर कलर लगाया गया था, सलमान के कबूतरों में रंग हरे वे शरीफ के कबूतरों का रंग फिरोजी था, जिसमें शरीफ ने 22 कबूतर पकड़ कर एक बड़ी जीत हासिल की, शरीफ को तोहफे में 11 किलो लड्डू वे हार फूल देकर बधाइयां दी गई, शहर के कबूतर बाज़ो ने शरीफ को मुबारकबाद दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ