-->
जो मांगने से मिले वो कर्ज, भीख, एहसान हैं,जो बिन मांगें मिले वो फर्ज, मदद व दान हैं : सिद्धार्थ कनौजिया

जो मांगने से मिले वो कर्ज, भीख, एहसान हैं,जो बिन मांगें मिले वो फर्ज, मदद व दान हैं : सिद्धार्थ कनौजिया

मो शाहिद

बाराबंकी। इंडियन स्टूडेंट पॉवर ने बंकी ब्लॉक उपाध्यक्ष दानिश खान व आकाश मिश्रा के नेतृत्व में स्टेशन पर व आस पास के क्षेत्र में रहने वाले निर्धन व जरूरतमंद परिवारों को वस्त्र प्रदान किए। तत्पश्चात स्टेशन तथा बस स्टॉप के आस पास रहने वाले रिक्शा चालकों व राहगीरों को बिस्कुट व चाय पिलाई गई। संगठन सचिव गुफरान वारसी ने बताया कि हम लगातार कई वर्षों से ये कार्य कर रहे हैं हमारे आस पास बहुत से ऐसे लोग है जो ठंड के कारण मर जाते है , प्रशासन भी सबकी मदद कर रहा है लेकिन अगर कोई किसी कारण वस प्रशासनिक मदद से चूक जाता है तो उनकी मदद हम लोग करते है । जिलाध्यक्ष प्रिंस कनौजिया ने कहा कि हम सबकी मदद नहीं कर सकते लेकिन जो हमारे सामने है उनकी मदद करना हमारा कर्तव्य है । हम लोग नए व पुराने गर्म कपड़े हर साल दान करते है और इस कार्य को हम ठंड के दिनों भर जारी रखते है। इस पुनीत कार्य में सभी लोग संगठन की मदद करते है वे लोग अपने पुराने कपडें हमें देते है हम उन्हे धुलकर, प्रेस करके व्यवस्थित ढंग से पैक करके जरूरतमंदों तक पहंुचाते हैं। कार्यक्रम में संगठन अध्यक्ष सिद्धार्थ कनौजिया, महामंत्री अपूर्व सिंह रायजादा, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष नेहा सिंह आनंद, महासचिव दीपिका कनौजिया, हरख ब्लॉक अध्यक्ष मोहम्मद शादाब, अंबेडकर नगर जिलाध्यक्ष शिवम् चैधरी, तनिष्का कश्यप, शिवम् कनौजिया आदि उपस्थित रहे।

0 Response to "जो मांगने से मिले वो कर्ज, भीख, एहसान हैं,जो बिन मांगें मिले वो फर्ज, मदद व दान हैं : सिद्धार्थ कनौजिया"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4