-->
 मोहल्ला गुलिस्तान-ए-शेर में स्वच्छ भारत अभियान की जम कर उड़ाई जा रही धज्जिया

मोहल्ला गुलिस्तान-ए-शेर में स्वच्छ भारत अभियान की जम कर उड़ाई जा रही धज्जिया

मो शाहिद

बाराबंकी। जी हां ये दृश्य जनपद बाराबंकी नवाबगंज के गुलिस्तान-ए-शेर मोहल्ले का है जहां सफाई कर्मी सफाई करना ही नहीं चाहते, बस मुफ्त की मलाई काटने में जुटे हैं, कितनी बार सुपर वाइजर से बात करने पर भी मोहल्ले की सफाई नहीं हो पा रही है कूड़े का अंबार लगता चला जा रहा है, जिसे गाय भैंस और तमाम पशु आकर कूड़े को ओर फैला रहे हैं, मोहल्ले वाले कूड़े को जलाने पर मजबूर हैं, जिससे वायु प्रदूषण फैल रहा है लेकिन सुपर वाइजर को अपने मोहल्ले की सफाई का ज़रा भी खयाल नहीं है और ना ही शायद मोहल्ले के सभासद जी को इसका ख्याल है। तभी तो इतनी अच्छी कॉलोनी में गंदगी का अंबार लगा पड़ा है। नालियां भी बंद हो गई है जिससे पानी भरने लगता है लोग स्वयं ही अपने घर के पास की नाली को साफ करने पर मजबूर हैं। ये नजारा डॉ अबू बक्र के घर के पास का है जहां ना ही कभी कोई कूड़ागाड़ी कूड़ा उठाने आती है और ना ही रोज़ झाड़ू लगता है। मोहल्ले की सफाई व्यवस्था का काम सभासद का होता है लेकिन उनके कान पर तो जूं तक नहीं रेंग रहा, शायद वो मोहल्ले में फैली गंदगी को देखने आते ही नहीं या देख कर भी अनजान बन रहे हैं।

शहर साफ- सुथरा रहे, केंद्र सरकार इस पर जोर दे रही है। इसके लिए स्वच्छ भारत मिशन अभियान चलाया जा रहा है पर फिर भी सफाई कर्मियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही, सफाई कर्मचारी सरकार के सफाई मिशन को ताक पर रख कर मलाई काटने में व्यस्त हैं। कोरोना जैसी महामारी में कॉलोनी में गंदगी का जमावड़ा लगा पड़ा है। अगर ऐसे ही रहा तो वो दिन दूर नहीं जब कॉलोनी में बीमारियां जन्म लेने लगेंगी और लोगो का रहना दूभर हो जाएगा, मोहल्ले के निवासी कई बीमारियों से ग्रसित हो जाएंगे। आलाधिकारियों को चाहिए मोहल्ला गुलिस्तान-ए-शेर में खास कर डॉ अबू बक्र वाली कॉलोनी की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करें।

0 Response to " मोहल्ला गुलिस्तान-ए-शेर में स्वच्छ भारत अभियान की जम कर उड़ाई जा रही धज्जिया"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4