-->
वृंदावन में आयोजित मिनी कुंभ में विराट विप्र कुंभ का होगा आयोजन

वृंदावन में आयोजित मिनी कुंभ में विराट विप्र कुंभ का होगा आयोजन

मुंबई में लगेगी इसी माह भगवान परशुराम की भव्य मूर्ति

ब्रज में स्वामी वामदेव एवं श्री कृष्ण बोधाश्रम महाराज की भव्यमूर्ति लगे या मार्ग का नामकरण हो

ब्राह्मणों पर गलत बोलने वालों का बहिष्कार होगा, टिकैत के बयान की निंदा

हरीश शर्मा

मथुरा। देश के सनातन धर्म एवं ब्राह्मण समाज के उत्थान को लेकर वृंदावन में आधा दर्जन धर्मार्थ संस्थानों एवं राष्ट्रीय परशुराम परिषद द्वारा तय किया गया कि वृंदावन में आयोजित आगामी मिनी कुंभ में विराट विप्र कुंभ का आयोजन होगा। मुंबई में इसी माह भगवान परशुराम की भव्य दिव्य प्रतिमा लगाई जाएगी। ब्रज क्षेत्र में ब्रह्मलीन संत वामदेव महाराज एवं श्री कृष्ण बोधाश्रम महाराज के नाम सड़क और उनकी चौराहे पर मूर्ति लगे तथा राकेश टिकैत ब्राह्मणों के विषय में बोले गए शब्दों की निंदा भी की गई।

वृंदावन के कृधा होटल के रूक्मणि हॉल में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रीय परशुराम परिषद के राष्ट्रीय महासचिव एवं पब्लिक पुलिस इंडिया डॉट कॉम और श्रीआनंद मानस ट्रस्ट के अध्यक्ष पूर्व प्रमुख सचिव आईएएस देवदत्त शर्मा, काशी विद्वत परिषद पश्चिम भारत के प्रभारी काष्र्णि नागेंद्र महाराज, समर्पण गौशाला के प्रमुख भागवत आचार्य ठाकुर संजीव कृष्ण, हनुमंत आराधन मंडल के अध्यक्ष अशोक व्यास, भागवत आचार्य, अभिषेक कृष्ण शास्त्री,आचार्य शिवांश मिश्र, श्यामसुंदर ब्रजवासी, अभिषेक व्यास, मुकुंद उपाध्याय, प्रदीप गिरी जी महाराज ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर काशी विद्युत परिषद के पश्चिम भारत के प्रभारी भागवताचार्य नागेंद्र महाराज ने कहां के देश के प्रमुख  ब्रह्मलीन संत स्वामी वामदेव महाराज एवं ब्रज मंडल मांट में जन्मे  ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य श्री कृष्ण विधाश्रम महाराज के नाम से प्रमुख चौराहों में उनकी मूर्ति लगे या प्रमुख मार्गों का उपरोक्त दोनों महापुरुषों के नाम नामकरण हो ऐसी मांग सरकार से की जाएगी तथा आगामी वृंदावन में आयोजित कुंभ में विप्र महाकुंभ का आयोजन होगा जिसमें ब्राह्मणों के उत्थान सनातन धर्म संस्कृति के उत्थान के बारे में विचार विमर्श होगा और फैसले लिए जाएंगे।

राष्ट्रीय परशुराम परिषद के महासचिव एवं श्रीआनंद मानस ट्रस्ट के अध्यक्ष प्रदेश के पूर्व प्रमुख सचिव आईएएस देवदत्त शर्मा ने कहा कि मुंबई के अंदर इसी माह भगवान परशुराम की भव्य दिव्य मूर्ति कांदिवली ओबेराय मॉल के पास स्थापित की जाएगी जिस की परमीशन सरकार से ले ली गई है यह कार्य राष्ट्रीय परशुराम परिषद महाराष्ट्र के संयोजक डॉ अमित मिश्र द्वारा कराया जा रहा है। 

सभी धर्माचार्य विद्वानों ने एक राय से अग्नि अखाड़े के महामंडलेश्वर एवं राष्ट्रीय परशुराम परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष संत कैलाशानंद महाराज को निरंजनी अखाड़ा परिषद का आचार्य महामंडलेश्वर बनने पर बधाई दी, जिनका पट्टा अभिषेक 14 जनवरी को होने जा रहा है। उन्हें राष्ट्रसंत की उपाधि से सम्मानित किया साथ ही कानून के क्षेत्र में राष्ट्रीय संयुक्त अधिवक्ता मंच प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष एवं जिला पॉस्को न्यायालय कोर्ट की स्पेशल डीजीसी श्रीमती अलका उपमन्यु एडवोकेट को और पत्रकारिता के क्षेत्र में राष्ट्रीय यूनियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट को ब्रज गौरव उपाधि से सम्मानित किया गया। संत कैलाशानंद महाराज एवं श्री कमलकांत उपमन्यु को उनके जन्मदिन पर बधाई भी दी गई।

राष्ट्रीय परशुराम परिषद के महासचिव  श्री देवदत्त शर्मा ने बताया कि संत कैलाशानंद महाराज को निरंजनी अखाड़े का आचार्य महामंडलेश्वर बनाया गया है, उनका पट्टा अभिषेक 14 जनवरी को हरिद्वार में होगा, जिसमें राष्ट्र के प्रमुख संत धर्माचार्य एव देश-विदेश भर से उनके अनुयाई कार्यक्रम में भाग लेंगे।

राष्ट्रीय परशुराम परिषद के राष्ट्रीय संरक्षक मंडल में डॉ रामविलास वेदांती जी जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी यतींद्रानंद गिरी महाराज जगदगुरू शंकराचार्य राजराजेश्वराश्रम  उ.प्र. श्रम कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सुनील भारद्वाज भराला भागवत आचार्य श्री विजय कौशल जी महाराज आचार्य महामंडलेश्वर शिवेंद्र पुरीजी महाराज विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री राधाकृष्ण मनोडी लक्ष्मण किला अयोध्या के आचार्य मिथलेश नंदनी शरण आचार्य श्रीकाशी विश्वनाथ न्यास परिषद के पूर्व अध्यक्ष डॉ हरि हर कृपालु त्रिपाठी जगतगुरु चित्रकूट के स्वामी रामभद्राचार्य महाराज को शामिल कर  केंद्रीय संरक्षक मंडल बनाया गया है। राष्ट्रीय परशुराम परिषद का डॉ विनोद शर्मा को राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष बनाया गया है बिहार में श्री अजय झा को संस्था का संयोजक बनाया गया है।

कार्यक्रम में  भाकियू  नेता राकेश टिकैत के उस बयान की निंदा की गई इसमें ब्राह्मणों को निशाना बनाया गया था। महासचिव देवदत्त शर्मा ने कहा कि राकेश टिकैत को अपने दिवंगत पिता महेंद्र सिंह टिकैत के रास्ते का अनुसरण करना चाहिए। ब्राह्मणों का बहुत सम्मान करते थे। उन्होंने बताया कि मैं जब मेरठ का कमिश्नर था वह मेरे पास किसानों की मांग लेकर आते थे, तो सीधे पंडितजी से संबोधन शुरू करते थे वह बहुत महान थे। धर्माचार्य ने कहा कि जो भी ब्राह्मणों के बारे में आगे अपमानजनक टिप्पणी करेगा उसका बहिष्कार किया जाएगा।

कार्यक्रम में वृंदावन बाल विकास परिषद के संस्थापक अध्यक्ष एवं उपजा अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने संचालन किया। कार्यक्रम में ब्रज क्षेत्र के प्रमुख विद्वान भागवताचार्य एवं विभिन्न संगठनों के प्रमुख शामिल थे।

0 Response to "वृंदावन में आयोजित मिनी कुंभ में विराट विप्र कुंभ का होगा आयोजन "

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4