-->
मिशन प्रेरणा के अंतर्गत अध्यापको ने सीखे विद्यालय को प्रेरक बनाने के गुण

मिशन प्रेरणा के अंतर्गत अध्यापको ने सीखे विद्यालय को प्रेरक बनाने के गुण

सत्य स्वरूप संवाददाता

इटावा। सैफई विकास खंड के गींजा संकुल पर आयोजित संकुल शिक्षक बैठक में प्रधानाध्यापकों इंचार्ज प्रधानाध्यापकों को मिशन प्रेरणा के अंतर्गत विद्यालय को प्रेरक बनाने के गुर सिखाए गए।

 बैठक की अध्यक्षता कर रहे संकुल प्रभारी अनिल यादव ने कहा कि मिशन प्रेरणा के अंतर्गत हमें सबसे पहले अपने विद्यालय को प्रेरक बनाना है इसके बाद ही हम ब्लाक व जिला को प्रेरक बना सकेंगे, इसके लिए आवश्यक है कि सभी अपने विद्यालय के सदस्यों के साथ तालमेल बनाते हुए बच्चों की शिक्षा को आगे बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि विद्यालय को उपलब्ध कराई गई कंपोजिट धनराशि से ही आवश्यक 14 मूलभूत सुविधाओं को वरीयता क्रम में पूरा कराया जाना है। सभी विद्यालयों में स्वच्छ पेयजल शौचालय जिसमें टाइल लगे हो किचन का टाईलीकरण हेंडवास यूनिट विद्युतीकरण आवश्यक है। इन सुविधाओं को सभी विद्यालयों में कराया जाना अनिवार्य है। पहले एक प्रधान द्वारा कराया जाना था लेकिन अब कंपोजर धनराज से पूरा किया जाएगा। ए आर पी शिव मोहन सिंह ने अभिलेखों के रखरखाव व प्रेरणा तालिका के अनुसार शिक्षण कार्य के बारे में जानकारी दी।उन्होंने कहा कि हमें वर्तमान समय की परिस्थितियों को देखते हुए शिक्षण कार्य कराना है बच्चों की शिक्षा बाधित न हो इसके लिए दीक्षा एप की पाठशाला दूरदर्शन आकाशवाणी पर प्रसारित कार्यक्रमों के माध्यम से बच्चों की शिक्षा को सुगम बनाना है। वर्तमान समय में यह एक शिक्षक के मुख्य औजार  हैं इन्हीं की मदद से हमें मिशन प्रेरणा के लक्ष्य को जीतना है। 

इस दौरान ममता वर्मा किशनचंद श्याम बिहारी उमेश तृप्ति यादव पूजा गौतम रजनी गाला ममता यादव पुष्पा देवी कमलेश कुमारी प्रमिला यादव राजेश यादव, मनीष पाल, सुघर सिंह आदि अध्यापक मौजूद रहे।

0 Response to "मिशन प्रेरणा के अंतर्गत अध्यापको ने सीखे विद्यालय को प्रेरक बनाने के गुण"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4