-->

ad

नेपाल से गायब हुई युवती के परिजनों ने गौरीफंटा बॉर्डर पर की खोजबीन

नेपाल से गायब हुई युवती के परिजनों ने गौरीफंटा बॉर्डर पर की खोजबीन

काफी खोजबीन के बाद कहीं भी नहीं लगा सुराग परिवार में गमजदा

ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी विरेन्द्र

   पलिया कलां खीरी। इंडो नेपाल बॉर्डर पर घातक तरीके से बढ़ता ही जा रहा हैं आए दिन किसी ना किसी नेपाली लड़की के गायब होने की खबर नेपाल सें आती रहती है।

  जिस तरह से बॉर्डर पर नए-नए मनचलों ने मानव तस्करी को अंजाम देने के लिए सवारियों की आड़ लिए हुए है, उससे बॉर्डर पर बैठी तमाम सुरक्षा एजेंसियों पर सवाल खड़े हो रहे हैं। इसका जीता जागता उदाहरण गौरीफंटा बॉर्डर पर नेपाल का एक परिवार फोटो लेकर खोजबीन करते हुए दिखाई दिया परिजनों से जानकारी लेने पर पता चला कि वह 22 वर्षीय अपनी पुत्री को ढूंढने के लिए फोटो लेकर गौरीफंटा बॉर्डर पर पहुंचा और लोगों से फोटो दिखाकर जानकारियां लेनी चाही। लेकिन काफी खोजबीन करने के बाद भी युवती का कहीं अता पता नही लग सका। परिजनों को एक डर यह भी सता रहा है कि कहीं ऐसा न हो कि वह मानव तस्करी की शिकार ना हो गई हो। वही नेपाल के लोगों ने भी कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा बॉर्डर पर सवारियों की आड़ में मानव तस्कर दलालों का चोला ओढ़कर मानव तस्करी के कार्य को अंजाम दे रहे हैं। वहीं अगर भारतीय बॉर्डर की बात की जाए बॉर्डर पर बैठी तमाम सुरक्षा एजेंसियों की आंखों में धूल झोंकने के लिए सबसे आसान तरीका सवारी ढोने का काम साबित होने लगा है और तमाम सुरक्षा एजेंसियां सिर्फ हवा में तीर चलाने का काम कर रही है धरातल पर बड़े-बड़े तस्कर अंजाम दे रहे हैं। अब देखना यह है की बॉर्डर पर उपस्थित दर्जनों विभाग ऐसे मानव तस्करी को रोकने के लिए क्या कार्रवाई करते है।

0 Response to "नेपाल से गायब हुई युवती के परिजनों ने गौरीफंटा बॉर्डर पर की खोजबीन"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4