-->

ad

चंदन चौकी से पलिया चलने वाली टाटा मैजिक तस्करों के लिए बनी वरदान

चंदन चौकी से पलिया चलने वाली टाटा मैजिक तस्करों के लिए बनी वरदान

 


तस्करी कर जमकर आ रही चाइनीज मटर व नेपाल भेजी जा रही खाद

ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी विरेन्द्र

पलिया कला खीरी। थारू बाहुल्य क्षेत्र के सूड़ा व चंदन चौकी मंडी से पलिया तक वर्तमान समय में डग्गामार वाहनों के लिए वरदान साबित हो रहा है वही एक बड़ी वजह यह भी है कि  थारू क्षेत्र में रहने वाले लोगों को पलिया तहसील तक आने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है इसी समस्या का फायदा उठाते हुए चंदन चौकी से पलिया तक लगभग तीन दर्ज़न टाटा मैजिक स्थानीय लोगों ने चला रखी हैं जिनका लखीमपुर खीरी परिवहन विभाग से सवारी ढोने का परमिट तो बना है पर माई बाप कौन है इसका नहीं पता नहीं चल रहा है। लेकिन वर्तमान समय में ये टाटा मैजिक सवारी गाड़ी सूड़ा व चंदन चौकी में बैठे तस्करों का नेपाल से तस्करी कर लाया गया सामान दिन रात ढोने में लगी  रहती हैं इन मैजिकों में वर्तमान समय में चायनीज़ मटर भारी मात्रा में चंदन चौकी से पलिया तक ढोया जा रहा है जिसका भाड़ा इन्हें प्रति कुंतल के हिसाब से मिलता है और सबसे बड़ी बात यह है कि इन मैजिकों में पलिया से खाद भरकर नेपाल पहुंचाने का भी धंधा है जोरों पर किया जा रहा है। हाल ही के कुछ पिछले दिनों में पलिया चौकी इंचार्ज ने पलिया सिंघहिया पर चायनीज़ मटर से भरी एक टाटा मैजिक UP31T3590 को पकड़ा था और गवारीफंटा पुलिस ने भी एक मैजिक UP31AT2674 को दुधवा बैरियर से चायनीज़ मटर पलिया ले जाते हुए पकड़ा था।यहां यह कहना भी गलत न होगा कि भारत नेपाल सीमा पर बैठे तस्करों के लिए ये मैजिक एक तरीके से वरदान साबित हो रही हैं जिनके द्वारा तस्कर अपना माल आसानी से पलिया तक पहुंचाने में कामयाब हो रहे हैं। लखीमपुर खीरी में बैठे परिवहन विभाग के अधिकारियों को इस तरह की मैजिक सवारी गाड़ियों पर ध्यान देकर आवश्यक कार्यवाही करनी चाहिए। जिससे तस्करो के मनोबल बढ़ाने में काफी गिरावट देखी जाएगी।

0 Response to "चंदन चौकी से पलिया चलने वाली टाटा मैजिक तस्करों के लिए बनी वरदान"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4