-->
तहसील प्रशासन की अवैध वसूली के चलते हुई किसान की मृत्यु 

तहसील प्रशासन की अवैध वसूली के चलते हुई किसान की मृत्यु 


   ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह


    बाराबंकी। शासन को पूरे प्रकरण की जांच कर दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया जाए और मृतक के परिवार को आर्थिक मुआवजा दिया जाए।


   उक्त वक्तव्य  सदस्य विधान परिषद राजेश कुमार यादव "राजू" ने हैदरगढ़ के ग्राम वली गिरावा में पराली जलाने की घटना मे हुए किसान की मृत्यु की जानकारी पर उक्त ग्राम में सपा के प्रतिनिधि मंडल के साथ  पहुंचकर घटना की विस्तृत जानकारी  लेने के पश्चात व्यक्त किए। विदित हो कि उक्त ग्राम में पराली को जलाने पर मृतक के ऊपर मुकदमा करने का तहसील प्रशासन के लोगों द्वारा अवैध वसूली की मांग पर मृतक किसान की मानसिक प्रताड़ना के चलते हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गई ।


  राजेश यादव राजू ने कहा कि मृतक प्रदीप सिंह की मौत न होती अगर प्रशासन के लोग अवैध धन वसूली की बात न करते। सरकार किसानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही हैं। पराली जलाने को लेकर पुलिस व अधिकारी जनपद में घूम -घूम कर अवैध वसूली मे लिप्त है ।किसानों की सुनने वाला कोई नहीं है ।
       


   राजेश यादव राजू ने भाजपा एजेंट के रूप में कार्य कर रहे अधिकारियों व कर्मचारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि  धान की  तौलाई में बंदरबांट हो रही है, कई हफ्तों से किसान अपना धान मंडियों में लेकर घूम रहा है लेकिन तौलाई नहीं हो रही है 
श्री राजेश यादव राजू व प्रतिनिधिमंडल में गए सदस्यों मे पूर्व विधायक राम मगन रावत, सपा जिला अध्यक्ष हाफिज अयाज,  उपाध्यक्ष मो सबाह, हिमांशु यादव, संदीप सिंह, पूर्व प्रमुख मौलाना असलम, अदनान चौधरी ने मृतक के परिवार को आर्थिक अनुदान व दोषी लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने की बात कही। मुकदमा दर्ज न होने की दशा में समाजवादी पार्टी तहसील का घेराव करने का कार्य करेगी ।


    इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष पारसनाथ यादव, सपा नेता पकंज यादव, कुल्लर सिंह, युवराज सिंह ,शिक्षक प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष अमित कुमार यादव, वेद प्रकाश बाजपेई, रमेश वर्मा आदि प्रमुख थे।


0 Response to "तहसील प्रशासन की अवैध वसूली के चलते हुई किसान की मृत्यु "

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4