-->
नेपाल सीमा बॉर्डर पर खाद्यान्न माफियाओ का फैला मकड़जाल

नेपाल सीमा बॉर्डर पर खाद्यान्न माफियाओ का फैला मकड़जाल


मोहाना घाटों के अवैध जंगली रास्तो से नेपाल भेजकर मालामाल हो तस्कर


  ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी


   पलियाकलां (खीरी)। इंडो नेपाल सीमा गौरीफंटा बॉर्डर पर खाद्यान्न माफियाओ का मकड़जाल फैला हुआ है। जिसके फलस्वरूप संबंधित विभाग के अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त खाद्यान्न  माफिया एवं कोटेदार सरकारी कोटे का गेहू चावल मोहना नदी घाट के अवैध जंगली रास्तो एवं प्रस्तावित मार्ग से नेपाल भेजकर मालामाल हो रहे हैं और कृषि व खाद्यान्न विभाग आंखों पर पट्टी बांधकर चैन की नींद सोने में जुटा हुआ है। उल्लेखनीय हैं कि अति संवेदनशील कही जाने वाली इंडो नेपाल की खुली सीमा सुरक्षा एवं अवैध गतविधियों की रोकथाम के लिए केंद्र व राज्य सरकार ने  नागरिक पुलिस, वन विभाग, एस एस बी, कस्टम विभाग,खाद्य रसद विभाग एवं गुप्तचर एजेंसियों की फ़ौज तैनात कर रखी है इसके बाबजूद अवैध घुसपैठ ,शिकार कटान ,सरकारी कोटे का गेहू चावल एवं सीमा से होनेवाली प्रतिबंधित सामानों की तस्करी पर अंकुश नही लग पा रहा है।


   इन दिनों संबंधित विभागों का संरक्षण प्राप्त खाद्यन्न माफिया ,कोटेदार एवं संदिग्ध कार्यो में लिप्त तस्करो का संगठित गिरोह वनगांव, कजरिया तथा उजड़ी हुई गौरीफंटा मंडी के अवैध जंगली रास्तो से घुसपैठ कर सरकारी कोटे के चावल गेहू एवं प्रतिबंधित सामानों की रात और दिन तस्करी कर रहे हैं जबकि सीमा पर तैनात केंद्र व राज्य सरकार के सजग पहरेदार चौविस घंटे मुस्तैदी का दावा करती रहती है इनके दावे की पोल तभी खुलती है जब अपना गुडवर्क दर्शाने के लिये यदा कदा अधिकारियों को खुश करने के लिए गुडवर्क में नदी घाट का उल्लेख करते हैं।


0 Response to "नेपाल सीमा बॉर्डर पर खाद्यान्न माफियाओ का फैला मकड़जाल"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4