-->
इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद सरकार पत्रकारों के हित में आगे आई : अध्यक्ष सिराज खान

इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद सरकार पत्रकारों के हित में आगे आई : अध्यक्ष सिराज खान


  सत्य स्वरुप न्यूज़ नेटवर्क


   लखनऊ l  देश प्रदेश में अपनी जान जोखिम में डालकर चौथे स्तंभ के सिपाही पत्रकार साथियों के साथ आए दिन दुर्व्यवहार अपमान और हत्याएं तक होना आम बात सी होती जा रही है l उत्तर प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट की टिप्पणी करने पर पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार करने  पर ₹50000 जुर्माना और 3 साल तक की सजा का प्रावधान क्या है इससे पत्रकारों में संतोष बढ़ा है l
        ऑल इंडिया मीडिया क्लब के प्रदेश अध्यक्ष सिराज खान  ने सरकार का आभार व्यक्त करते हुए चौथे स्तंभ के साथियों साथियों के लिए प्रदेश से इस कानून को कड़ाई के साथ  लागू करने का आह्वान किया है l उन्होंने जारी करदा अपने बयान में प्रदेश सरकार से चौथे स्तंभ के लिए  एक आयोग गठित मांग को भी एक बार फिर से से दोहराया है और पत्रकारों के उत्पीड़न पर  अंकुश लगाने के लिए सरकार से मांग की है l  न्यायालय का भी सहारा लिया है l हमेशा अपने साथियों की सुरक्षा के लिए आवाज उठाई है l  उन्होंने कहा हमें इतनी सुरक्षा प्रदान की जाए कि हम अपने काम का सही रूप में निर्वाह कर सकें और जनता जो हम से अपेक्षा रखती है हम उस पर  खरा उतरे  हमारे परिवार का सुख शांति के साथ पालन पोषण हो हम अपने कलम की ताकत से  सच्चाई को  उजागर करें और देश की तरक्की के लिए  मील का पत्थर साबित हो यह तभी संभव होगा जब हमें सुरक्षा के साथ आजादी  के साथ कलम चलाने  का अवसर प्रदान होगा l


        गत दिनों लखनऊ आगरा और गाजियाबाद में पत्रकारों को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया जो जो बहुत ही दुखदाई है l उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर में तीन पत्रकार साथियों  जो जिला प्रभारी के पद पर कार्यरत हैं उनको 6 महीने बाद एनआरसी के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन से जोड़कर उनका मानसिकउत्पीड़न क्या जा रहा है l जो सरासर गलत है इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए और निर्दोष साथियों  से मुकदमाइलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद सरकार पत्रकारों के हित में आगे आई: अध्यक्ष सिराज खान
 लखनऊ l  देश प्रदेश में अपनी जान जोखिम में डालकर चौथे स्तंभ के सिपाही पत्रकार साथियों के साथ आए दिन दुर्व्यवहार अपमान और हत्याएं तक होना आम बात सी होती जा रही है l उत्तर प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट की टिप्पणी करने पर पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार करने  पर ₹50000 जुर्माना और 3 साल तक की सजा का प्रावधान क्या है इससे पत्रकारों में संतोष बढ़ा है l
        ऑल इंडिया मीडिया क्लब के प्रदेश अध्यक्ष सिराज खान  ने सरकार का आभार व्यक्त करते हुए चौथे स्तंभ के साथियों साथियों के लिए प्रदेश से इस कानून को कड़ाई के साथ  लागू करने का आह्वान किया है l उन्होंने जारी करदा अपने बयान में प्रदेश सरकार से चौथे स्तंभ के लिए  एक आयोग गठित मांग को भी एक बार फिर से से दोहराया है और पत्रकारों के उत्पीड़न पर  अंकुश लगाने के लिए सरकार से मांग की है l  न्यायालय का भी सहारा लिया है l हमेशा अपने साथियों की सुरक्षा के लिए आवाज उठाई है l  उन्होंने कहा हमें इतनी सुरक्षा प्रदान की जाए कि हम अपने काम का सही रूप में निर्वाह कर सकें और जनता जो हम से अपेक्षा रखती है हम उस पर  खरा उतरे  हमारे परिवार का सुख शांति के साथ पालन पोषण हो हम अपने कलम की ताकत से  सच्चाई को  उजागर करें और देश की तरक्की के लिए  मील का पत्थर साबित हो यह तभी संभव होगा जब हमें सुरक्षा के साथ आजादी  के साथ कलम चलाने  का अवसर प्रदान होगा l
          गत दिनों लखनऊ आगरा और गाजियाबाद में पत्रकारों को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया जो जो बहुत ही दुखदाई है l उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर में तीन पत्रकार साथियों  जो जिला प्रभारी के पद पर कार्यरत हैं उनको 6 महीने बाद एनआरसी के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन से जोड़कर उनका मानसिकउत्पीड़न क्या जा रहा है l जो सरासर गलत है इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए और निर्दोष साथियों  से मुकदमा  वापस लिया जाए l


0 Response to "इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद सरकार पत्रकारों के हित में आगे आई : अध्यक्ष सिराज खान"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4