-->

ad

अब यहाँ थानों और चौकियों की खाली भूमि पर होगा मधुमक्खी पालन

अब यहाँ थानों और चौकियों की खाली भूमि पर होगा मधुमक्खी पालन

 

     ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। पुलिस क्लब ऑफिसर्स क्लब आदि भवनों परिसरों के रखरखाव के लिए बहुत कम सरकारी धन राशि उपलब्ध हो पाती है । पुलिस अधीक्षक डॉ0 अरविन्द चतुर्वेदी द्वारा धनराशि की आवश्यकता और उपलब्धता के अन्तर को पूरा करने के लिए थानो एवं चौकियों में उपलब्ध सरकारी भूमि पर पुलिस मुख्यालय उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दिए गए मार्ग दर्शक परिपत्र के गार्डनिंग प्राइवेट फण्ड का विस्तार करते हुए मधुमक्खी पालन कराए जाने का निर्णय लिया गया इसके लिए पुलिस लाइन्स में एक एस0आई0ए0पी0 के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा मधुमक्खीवाला के नाम से विख्यात श्री निमित सिंह  साथ मिलकर जनपद के 23 थानों, 36 चौकियों, पुलिस लाइन्स आदि का भौतिक सर्वेक्षण कर मधुमक्खी पालन के लिए उनकी उपयुक्तता के आधार पर एक प्राथमिकता सूची तैयार की गई प्रथम चरण के लिए 27 स्थानों को चयनित कर 10-10 मधुमक्खी के डिब्बे रखने का निर्णय लिया गया थानें चौकियों पर रखे जाने वाले डिब्बों के रख-रखाव के लिए उन थानों के 4-4 उत्साही, कर्मठ और निष्ठावान चौकीदारों को चिन्हित कर तीन दिवसीय मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण भी दिया गया।

    अपर पुलिस महानिदेशक, लखनऊ जोन, लखनऊ श्री एस0एन0 सांबत द्वारा 270 मधुमक्खी के डिब्बों को पुलिस लाइन्स बाराबंकी में आयोजित एक गरिमामयी कार्यक्रम में हरी झण्डी दिखाकर गंतव्य स्थानों के लिए रवाना किया गया था मात्र 20 दिनों में जनपद के सभी 270 मधुमक्खी के डिब्बे शहद से लबालब हो गए हैं।

चौकी मोहम्मदपुर थाना कोतवाली नगर में रखे गए मधुमक्खी के डिब्बों से शहद निष्कर्षण स्थापित विधि द्वारा छत्तों से शहद निकालना का कार्य किया गया इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक बाराबंकी डॉ0 अरविन्द चतुर्वेदी ने कहा कि जनपद बाराबंकी के इस मधु-मिशन से प्राप्त शहद से प्रत्येक थानें/चौकियों को इतना पर्याप्त मात्रा में मुफ्त शहद उपलब्ध कराया जायेगा, जिससे तैनात कर्मी नींबू एवं गुनगुने पानी के साथ एक चम्मच शहद नियमित रूप से पीकर अपनी इम्युनिटी को बढ़ा सके, साथ ही साथ डिब्बों से प्राप्त शहद एवं अन्य उत्पादों की बिक्री से प्राप्त धनराशि को जनपद के सरकारी पुलिस भवनों का रख रखाव एवं पुलिस कर्मियों की सुख-सुविधा आदि पर व्यय किया जा सके । शीघ्र ही कुछ अन्य थानों/चौकियों को चिन्हित कर इस मिशन का विस्तार किया जायेगा। अच्छा उत्पाद देने वाले थानों/चौकियों पर 10 अतिरिक्त मधुमक्खी के डिब्बे लगाने पर भी विचार किया जायेगा।

0 Response to "अब यहाँ थानों और चौकियों की खाली भूमि पर होगा मधुमक्खी पालन"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4