-->
विकास भवन सभागार मे ज़िला स्वास्थ समिति की बैठक

विकास भवन सभागार मे ज़िला स्वास्थ समिति की बैठक

   ज़िला ब्यूरो तनवीर खान

   उन्नाव। जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आहूत की गई। बैठक में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत संचालित कार्यक्रमों की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की गई । समीक्षा में जनपद रैंकिंग, डैशबोर्ड, आरसीएच डाटा फीडिंग, अनमोल प्रोग्राम, जननी सुरक्षा योजना, आशा भुगतान, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर ,राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, परिवार नियोजन ,प्रधानमं मंत्री मातृ वंदना योजना, सुरक्षित मातृत्व योजना ,प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, शहरी स्वास्थ्य मिशन, कायाकल्प योजना, राष्ट्रीय कार्यक्रम ,की गहनता से समीक्षा की गई ।

   बैठक में अवगत कराया गया कि प्रदेश में जनपद उन्नाव को अनमोल प्रोग्राम के अंतर्गत पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है ।इस कार्यक्रम के अंतर्गत 281 ए. एन.एम .को टेबलेट दिया गया है ।इसका उद्देश्य आरसीएच डाटा की ऑनलाइन एवं रियल टाइम फीडिंग करना है ।सभी ए एन एम को टेबलेट पर एप अनमोल अपलोड कर दिया गया है।एप पर ऑनलाइन अपलोड तथा वर्जन अपडेशन एवं डाटा सीकिंग का कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है ,तथा डाटा एंट्री का कार्य प्रारंभ हो गया है । जनपद उन्नाव अनमोल टेबलेट के शत-प्रतिशत अपडेशन में प्रदेश ही नहीं अपितु देश का प्रथम जनपद बन गया है।

   समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने डाटा फीडिंग की जिला रैंकिंग,  आरसीएच कार्यक्रम, डैशबोर्ड रैंकिंग ,राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम ,के अंतर्गत कम उपलब्धि वाले ब्लाकों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों ,मियागंज पुरवा, हिलौली ,फतेहपुर 84, औरास ,असोहा ,गंज मुरादाबाद, को कड़ी चेतावनी देते हुए निर्देशित किया की आगामी माह की समीक्षा में यदि प्रोग्राम में प्रगति नहीं हुई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

    सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि विगत 3 माह का कंपैरेटिव रिपोर्ट बनाकर समीक्षा करें ,तथा प्रगति में सुधार लाएं। यदि विगत 3 माह की प्रगति में सुधार नहीं होता है तो संबंधित प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को नोटिस देकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

           कोविड - 19 संक्रमण के नियंत्रण के संदर्भ में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि कॉरोना केस बढ़ रहे हैं ,इसके नियंत्रण के लिए जरूरी है कि सर्विलांस अच्छी तरह से किया जाए ।सर्विलांस टीम के भ्रमण में यदि कहीं कोई कमी पाई जाती है तो संबंधित टीम एवं प्रभारी चिकित्सा अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।उन्होंने निर्देशित किया कि सरकारी एवं प्राइवेट चिकित्सालय में सर्दी, खांसी, जुकाम एवं सांस वाले दिक्कत के मरीजों के सैंपल उनका रिकॉर्ड एक रजिस्टर में दर्ज किया जाए तथा समय से उनकी सेंपलिंग कराई जाए ।उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन में आर आर टी टीम नियमित रूप से पहले दिन ,चौथे  और सातवें दिन भ्रमण करेगी। आइसोलेशन के रोगी का ऑक्सीजन लेवल, तापमान व स्वास्थ्य का नियमित रूप से पर्यवेक्षण करें । फैसिलिटी में  भर्ती रोगियों के उपचार को गंभीरता से लेते हुए संपूर्ण व्यवस्था की जाए ।सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह सर्विलांस, आरआरटी टीम, आर बी एस के टीम, आशा ,एनम ,सुपरवाइजर की एक मीटिंग कर उन्हें जानकारी दें कि वह सर्विलांस  का कार्य गहनता से करें ,इसमें लापरवाही पाई जाती है तो जिम्मेदारी तय की जाएगी।

    जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि कोविड-19 व्यय संबंधी पत्रावली शीघ्र प्रस्तुत की जाए, यदि निर्देश की अवहेलना की जाती है तो संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई  की जाएगी।

0 Response to "विकास भवन सभागार मे ज़िला स्वास्थ समिति की बैठक "

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4