-->
 प्रेमी संग मिलकर माँ ले गई ज़ेवर, घर और दुकान के कागजात

प्रेमी संग मिलकर माँ ले गई ज़ेवर, घर और दुकान के कागजात

    अनवर अशरफ

      कानपुर। श्लोक सोनी पुत्र स्व0 मुकेश सोनी निवासी आराजी 1653  कश्यप नगर आई 0आई0टी0 बम्बा रोड, कल्याण पुर ने अपने चाचा व बाबा के साथ कानपुर प्रेसक्लब में वार्ता करते हुए बताया कि उसके पिता की 5 अक्टूबर, 20 को संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई जिसका आज तक कोई पता नहीं चल सका। मुझे अपनी माँ के बारे में कुछ कहना अच्छा तो नहीं लग रहा पर मजबूर हो कर कहना पड़ रहा है कि वह चाल चलन की अच्छी नहीं है, पिता के साथ उसका रोज़ ही झगड़ा होता था।  मां का एक प्रेमी सोनू है व उसके मित्र हरीश दोनों ही पिता की प्रॉपर्टी पर नज़र रखे थे। 

   पिता की मृत्यु के बाद ही मां ने घर में पिता की प्रॉपर्टी की मांग करने लगी। बाबा से दहेज़ वापस करने की भी माँग करने लगी। पापा का प्लाट, आर्टिफिशियल ज्वैलरी की दुकान के सभी ज़रूरी कागज़ात व मेरी पुस्तकें भी लेकर अपने मायके चली गयी। पापा के साथ लड़ाई में  मां ने कई बार अपना हाथ तक काट लिया, छत से भी कूदी जिससे कुल्हा टूट गया और इलाज में करीब 3 लाख रुपये ख़र्च हुए।  मेरे मामा राजाबाबू, पिंटू, निक्की व सुनील भी चाह रहे हैं कि माँ सोनू से शादी कर ले। सोनू मेरे पापा की सारी प्रापर्टी  मम्मी के नाम कर शादी करके हड़पना चाह रहा है।

मैं मीडिया के सहारे प्रशासन से माँग करता हूं कि जब तक मैं बालिग नहीं हो जाता माँ कुछ बेंच न सकें। मेरी शिक्षा ज़ारी रखने हेतु मां से मेरी पुस्तकें दिलाई जाय। मुझपर , बाबा व चाचा पर झूठे आरोप न लगाये व उन सब पर किसी प्रकार का दबाव न डाले।

0 Response to " प्रेमी संग मिलकर माँ ले गई ज़ेवर, घर और दुकान के कागजात"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4