-->

ad

नवरात्र के अवसर पर चाइल्डलाइन के जागरूकता सप्ताह में लगे कैम्प में हजारों लोगों को किया जागरूक

नवरात्र के अवसर पर चाइल्डलाइन के जागरूकता सप्ताह में लगे कैम्प में हजारों लोगों को किया जागरूक

अनवर अशरफ 


कानपुर। चाइल्डलाइन कानपुर द्वारा नवरात्र के अवसर पर दिनांक 17 अक्टूबर 2020 से 24 अक्टूबर 2020 तक जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसके आज तृतीय दिवस पर 500 से अधिक व कुल 1500 से अधिक लोगों को जागरूक किया जा रहा है जिसका मुख्य उददेश्य जन जागरूकता फैलाने और अधिक से अधिक बच्चों की मदद के उददेश्य से लगे मेले में आने वाले भक्तो को चाइल्डलाइन 1098 व बाल अधिकारों के बारे में जागरूक करना है। 
मेले में समाज के उपेक्षित, अपने अधिकारो से वचिंत एवं पल पल शोषण का शिकार बनने वाले बच्चो को जरूरत पडने पर न्याय दिलाने एंव दोषियो को दण्डित कराने व चाइल्डलाइन 1098 कानपुर की जानकारी देने के उददेश्य से एवं बच्चो को स्वंय अथवा किसी जरूरतमन्द बच्चे की मदद करने एवं चाइल्डलाइन कानपुर की सेवाओं के बारे में अवगत कराने के उद्देश्य से चाइल्डलाइन द्वारा जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया गया। 
कार्य्रकम के दौरान जनसामान्य को स्वच्छता के बारे में जागरूक करने के उददेश्य से बताया गया कि यदि कोई व्यक्ति स्वच्छ नही है तो वह स्वस्थ नही रह सकते बेहतर साफ-सफाई से ही भारत को आदर्श बनाया जा सकता है, शौचालय को अपने ड्रांइग रूम की तरह साफ रखना जरूरी है, नदियों को साफ रखकर हम अपनी सभ्यता को जिंदा रख सकते है, हर किसी को अपना कूढा खुद साफ रखना चाहिए,  अपनी गलती को स्वीकार करना झाडू लगाने के समान है जो सतह को चमकदार और साफ कर देता है, स्वच्छता को अपने आचरण में इस तरह अपना लो कि वह आपकी आदत बन जाए। 
 चाइल्डलाइन की काउंसलर मंजुला तिवारी द्वारा चाइल्डलाइन की सेवाओं की जानकारी देते हुए बताया कि चाइल्डलाइन  देता है उसके विरूद्ध कार्यवाही भी की जा सकती है। लड़कियों को कोई मानसिक या शारीरिक रूप से प्रताड़ित करता है, तो आप.  पर फोन करके समस्या से तुरन्त अवगत करायंे। जिसका निराकरण चाइल्डलाइन द्वारा त्वरित कार्यवाही कर किया जायेगा। 
  चाइल्डलाइन कानपुर के समन्वयक प्रतीक धवन ने बताया कि इस जागरूकता कार्य्रकम का आयोजन करने का मुख्य उददेश्य नवरात्र के अवसर पर मेले में आए लोगो को चाइल्डलाइन कानपुर की सेवाओं के बारे में अवगत कराने के साथ -साथ उनकों भटके हुए बच्चों व मेला या भीड-भाड वाले स्थानों मे खोए हुए बच्चों की मदद के लिए चाइल्डलाइन की सेवाओं के बारे मे जागरूक करना है।
साथ ही बताया कि समाज के उपेक्षित, अपने अधिकारो से वचिंत घर,स्कूल, बाजार ,सड़क सहित हर पल शोषण का शिकार बनने वाले बच्चो को जरूरत पडने पर न्याय दिलाने एंव दोषिओं को दण्डित कराने में सहयोग प्राप्त करने के लिए 1098 चाइल्ड लाइन कानपुर एवं बाल अधिकार तथा सुरक्षा के उपायो की जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में बताया गया कि बच्चे स्वयं अथवा उनके अभिभावक किसी भी  फोन से 1098 निःशुल्क डायल करके अपनी समस्या से चाइल्डलाइन को अवगत करा सकते हैं। 
      साथ ही उन्होंने बताया कि जागरूकता सप्ताह के माध्यम से इस अवसर पर मेले में आये हजारों की संख्या में लोगो को चाइल्डलाइन के निशुल्क नम्बर 1098 के बारे में जागरूक किया गया जिससे वे परिजनों से बिछडे , खोए हुए ,जरूरतमंद व मुसीबत में फँसे असहाय एवं शोषण के शिकार बच्चों की मदद के लिए चाइल्डलाइन के 1098 न0 पर सूचना दे सके। 
चाइल्डलाइन कानपुर के निदेशक कमल कान्त तिवारी ने बताया कि चाइल्डलाइन कानपुर 1098 विगत 13 वर्षाें से सुभाष चिल्ड्रेन सोसाइटी द्वारा संचालित की जा रही है और चाइल्डलाइन की जागरूकता न होने के कारण बहुत से भटके, घर से बिछड़े व समाज से उपेक्षित बच्चों को उनके परिजन एवं संरक्षण नहीं मिल पाता है। चाइल्डलाइन, नगर की सभी जनता एवं बच्चों तक 1098 नम्बर की पहुंच बनाने के उद्देश्य से विभिन्न स्थानों पर जागरूकता कार्यक्रम का संयोजन कर रही है।
 साथ ही चाइल्डलाइन कानपुर की सफलता के बारे में बताते हुए कहा कि चाइल्डलाइन कानपुुर द्वारा पिछले 12 वर्षों में विगत 12 वर्षों में 5638 भटके बच्चों को उनके घर पहुचाया एवं 93 बच्चों को चिकित्सीय सहायता, 1152 बच्चांें को आश्रय, 4026 बच्चांें की काऊसलिंग कर उन्हे उज्जवल भविष्य के लिए प्रेरणा प्रदान की तथा लगभग 1085 बच्चों को उनके साथ हो रहे शोषण से अवमुक्त कराया। 
काय्र्रकम मे मुख्य रूप से चाइल्डलाइन समन्वयक प्रतीक धवन, काउंसलर मंजुला तिवारी, दीक्षा तिवारी, शिवानी सोनवानी, शिव कुमार आलोक चन्द्र वाजपेयी आदि लोग उपस्थित रहे ।


0 Response to "नवरात्र के अवसर पर चाइल्डलाइन के जागरूकता सप्ताह में लगे कैम्प में हजारों लोगों को किया जागरूक"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4