-->

ad

बाराबंकी : इस बार नही निकाला जाएगा जश्ने ईद मिलादुन्नबी का जुलूस

बाराबंकी : इस बार नही निकाला जाएगा जश्ने ईद मिलादुन्नबी का जुलूस


ब्यूरो सग़ीर अमान उल्लाह


   बाराबंकी। बज्मं ए रहम की जानिब से हाफिज इशरत अली अंसारी के आवास पर  एक अहेम मीटिंग करके जुलूस ए परचम ऐ मोहम्मदी सल्लल्लाहो आलेही वसल्लम वाह जश्श्ने ईद मिलादुन्नबी को लेकर एक अहम बैठक की गई जिसकी अध्यक्षता हाफिज इशरत अली अंसारी ने की और इस मीटिंग में यह तय पाया गया है कि करोना महामारी कोविडण्-19 के चलते इस बार योमें ईद मिलादुन्नबी जो हर साल हर्ष और उल्लास के साथ होता था वह इस साल प्रशासन की गाइड लाइन को मद्दे नजर रखते हुए बज्म ए रहमत बाराबंकी की जानिब से आप सभी से गुजारिश की जाती है कि 11 रबी उल अव्वल को जिस दिन रोशनी होती है उस दिन आप लोग अपने घरों में रोशनी करिए चिरागाह करिए कुरान खानी मिलाद और जो भी अपने नबी के सदके तूफेल में जो आप अपनी मोहब्बत में करे अपने घरों में रहकर करें।


   गलियों में मैदान में या रोड पर किसी प्रकार का कोई कार्यक्रम नहीं होगा नाही 12 रबीउल अव्वल को जुलूस ए पर्चेमें  मोहम्मदी सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम नहीं निकाला जाएगा और आप सभी से गुजारिश है की इस करोना काल में आप लोग अपने घरों में रहकर 12 रबी उल अव्वल योमें ईद मिलादुन्नबी की खुशियां अपने घरों पर मनाइए आप सभी से बहुत-बहुत गुजारिश है और शासन प्रशासन को पूरा सहयोग करें और शासन प्रशासन की गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर व्यक्ति की स्वयं की जिम्मेदारी होगी इसमें बज्म ए रहमत की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी अतः आपसे गुजारिश है कि कोई ऐसा काम ना करें जिससे आप को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े सावधानी ही समस्या का समाधान है।


   इस मीटिंग में उपस्थित बज्म ए रहमत के सदर हाफिज इशरत अली अंसारी, एडवोकेट अब्दुल हक वारसी कारी अजीम मासयखी, शरीफुल हक जफर अंसारी, एडवोकेट अख्तर वारिस, ताज बाबा रईन, मोइनुइद्दीन अंसारी पूर्व सभासद, आसिफ सभासद, मौलाना अलीम जामई, कारी अब्दुल कलाम बंकी, सिद्दीक चौधरी, मो0 गुफरान धनौखर चौराहा, भीतरी कुर्बान प्रधान, कमाल वारिस, मो0 यासिर, मो0 वकास, मो0 अहमद, हमीदुल्लाह राईन मीटिंग में मौजूद रहे और सभी ने अपनी अपनी राय पेश की।


0 Response to "बाराबंकी : इस बार नही निकाला जाएगा जश्ने ईद मिलादुन्नबी का जुलूस"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4